मिलजुल मन : मृदुला गर्ग | Miljul Man Upnayas By : Mridula Garg

मिलजुल मन मृदुला जी का आत्मकथात्मक उपन्यास है जिसकी कथा पिछले पचास वर्षों के घटनाक्रम को चित्रित करती है | इस उपन्यास की कहानी मोगरा तथा गुलमोहर दो बहनों के…

Continue Reading मिलजुल मन : मृदुला गर्ग | Miljul Man Upnayas By : Mridula Garg

कठगुलाब : मृदुला गर्ग | Kathgulab Upnayas By : Mridula Garg

कठगुलाब उपन्यास की कथा नारी जीवन तथा उसके संघर्षो को लेकर लिखा गया है | इस उपन्यास का कथानक समाज में व्याप्त नारी के शोषण, अन्याय तथा स्त्रियों के विभिन्न…

Continue Reading कठगुलाब : मृदुला गर्ग | Kathgulab Upnayas By : Mridula Garg

चित्तकोबरा : मृदुला गर्ग | Chitkobra Upnayas By : Mridula Garg

चित्तकोबरा मृदुला जी द्वारा रचित एक बहुचर्चित एवं विवादास्पद उपन्यास है | इस उपन्यास की कथा का मूल आधार प्रेम विवाह तथा सेक्स की समस्या है | उपन्यास की नायिका…

Continue Reading चित्तकोबरा : मृदुला गर्ग | Chitkobra Upnayas By : Mridula Garg

अनित्य : मृदुला गर्ग | Anitya upnayas By : Mridula Garg

अनित्य उपन्यास में पचास वर्षों के लगातार हास्योन्मुख होते सामाजिक परिवेश को प्रस्तुत किया गया है | इस उपन्यास में राजनैतिक विसंगतियों का भी बखूबी चित्रण किया गया है |…

Continue Reading अनित्य : मृदुला गर्ग | Anitya upnayas By : Mridula Garg

मैं और मैं : मृदुला गर्ग | Main aur main Upnayas By : Mridula Garg

‘मैं और मैं’ मृदुला जी द्वारा एक नवीन विषय को लेकर लिखा गया उपन्यास है | इस समाज में एक स्त्री लेखिका का किस प्रकार से शोषण किया जाता है,…

Continue Reading मैं और मैं : मृदुला गर्ग | Main aur main Upnayas By : Mridula Garg

नागार्जुन के उपन्यास : संक्षिप्त परिचय | Nagarjun ke Upanayas

बाबा नागार्जुन ने मैथिली तथा हिंदी भाषा में अनेकों रचनाओं का सृजन किया है | साहित्यकार नागार्जुन ने संकृत तथा बंग्ला भाषाओं में भी कई मौलिक रचनाकर्म किये तथा साथ…

Continue Reading नागार्जुन के उपन्यास : संक्षिप्त परिचय | Nagarjun ke Upanayas